Children Study & Career

बच्चे का अध्ययन और कैरियर

एक बच्चे को पालना और समाज के लिए भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक रूप से एक अच्छा इंसान बनाना, दुनिया में सबसे बड़ा मिशन है लेकिन साथ ही साथ यह सबसे कठिन है। एक बच्चे का पालन-पोषण बड़ी जिम्मेदारी है जिसके लिए बहुत धैर्य, प्यार और देखभाल की आवश्यकता होती है। इस मिशन को, लोगों के जीवन को आसान बनाने के लिए ज्योतिष होता है। वास्तव में ज्योतिष को सबसे अच्छा उपकरण माना जा सकता है क्योंकि यह एक बच्चे के पालन-पोषण के लिए सभी आवश्यक सुझाव और कुंजी प्रदान करता है।

दरअसल, एक बच्चे के व्यक्तित्व को समझना आसान नहीं है क्योंकि आप केवल एक व्यक्तित्व की खोज नहीं कर रहे हैं, लेकिन यह व्यक्तित्व अभी भी निर्माणाधीन है और आकार में है, और जो इसे और अधिक जटिल बनाता है, वह तथ्य यह है कि आप बच्चे के कार्यों की भविष्यवाणी नहीं कर सकते हैं।

ज्योतिष आपको अपने बच्चे को समझने का तरीका देता है। यही कारण है कि अपने बच्चे को समझने के लिए और उनकी जरूरतों के अनुसार उनके साथ प्रभावी ढंग से बातचीत करने के तरीके को जानने के लिए यह सबसे अच्छा स्रोत है।

ज्योतिष आपको अपने बच्चे के चरित्र के बारे मे बहुत कुछ बताता है। उनकी जन्म कुंडली, पसंद, नापसंद और इच्छाओं की पहचान करने में मदद करेगा। यह उनके विचारों और कार्यों को दर्शाता है । यह आपको अपने बच्चे की काबिलियत को समझने में मदद करता है और उनके व्यवहार का विश्लेषण करने में सक्षम बनाता है और एक ऊँचे स्तर पर इसकी भविष्यवाणी करने में सक्षम बनाता है । अपने बच्चे के बारे में बहुत कुछ जानने से माता-पिता- बच्चे के संबंध में बहुत सी बाधाएं और समस्याओं का निवारण कर सकते हैं|

ज्योतिष के लिए धन्यवाद, एक अभिभावक के रूप में आप न केवल अपने बच्चे के व्यक्तित्व बल्कि उनकी प्रतिभा और क्षमताओं के बारे में भी जानते होंगे। आपकी जिम्मेदारी अपने बच्चे का मार्गदर्शन करना और उनकी सहायता करना है ताकि वे स्वयं अपनी प्रतिभा के बारे में जागरूक हो जाएं|

हालांकि, अपने बच्चे के साथ प्रभावी ढंग से बातचीत करने और उनके व्यक्तित्व को बेहतर बनाने के लिए केवल उनके मजबूत बिंदुओं के बारे में सीखना और उन्हें विकसित करने पर काम करना ही पर्याप्त नहीं है, बल्कि उनकी कमजोरियों के बारे में सीखना और उन्हें ताकत में बदलना भी महत्वपूर्ण है। नेटल चार्ट आपको अपने बच्चे की ताकत और कमजोरियों में जबरदस्त अंतर्दृष्टि दे सकता है और इस नेटल चार्ट की मदद से आप अपने बच्चे को उनमें सबसे अच्छा दिखाने में मदद कर पाएंगे और उसका सबसे अच्छा संस्करण बन जाएंगे। ।

ज्योतिष माता-पिता को बच्चे के बारे मे जानने में मदद कर सकता है कि उनका बच्चा कैसा है और उनके मनोविज्ञान को समझता है और यह बच्चे के चारों ओर एक शांत वातावरण बनाता है। ज्योतिष माता-पिता को अच्छे माता-पिता बनने में मदद करता है जिनके मार्गदर्शन और देखभाल से बच्चा एक अच्छा और संस्कारी बन सकता है।

Raising a child and trying to bring out an emotionally and psychologically member to the society is the noblest mission in the world but at the same time it is the hardest. As a matter of fact, parenting a child is a big responsibility which requires a lot of patience, love and care. Concretely, to bring up their child, parents put all their effort and energy. To ease this mission, astrology is always there to simplify people’s lives. Actually astrology can be considered as the optimum tool for parenting since it provides all the necessary tips and keys needed to properly raise a child.

In any kind of human relationship, communication is the basis, and to communicate better you need to understand the other better; understand their needs, personality and mindset. This is basically what astrology is all about. Astrology provides you with the keys of the inner self and describes the inner world and the personality traits of the person.

Actually, it is not easy to understand the personality of a child since you are not just discovering a personality but this personality is still under construction and being shaped, and what makes it more complicated, is the fact that you cannot predict a child’s actions and reactions.

Astrology gives you the formula to deal with your child. That is why it is the best source to go to in order to understand your child and consequently to learn how to effectively communicate with them in accordance to their needs and unique personality.

Astrology gives you insights into the character of your child and reveals much about them. Their birth chart will help you identify their likes, dislikes and desires. It reflects their thoughts and actions and identifies the drive behind them. It also helps you understand the uniqueness of your child and makes you able to analyze their behavior and at an advanced stage you will become able to predict it. Knowing this much about your child can prevent lots of obstacles and problems which may emerge in your parent-child relationship simply because communication between you will become smoother and more effective.

Thanks to astrology, as a parent you will not only be aware of the personality of your child but also of their talents and abilities. This early awareness means that you are conscious of your child’s strengths. Your role is to guide your child and assist them so they themselves become aware of their talents, and show them how to reveal these talents and how they can be developed and improved.

However, in order to effectively communicate with your child and improve their personality it is not enough to only learn about their strong points and work on developing them, but it is also important to learn about their weaknesses and turn them into strengths. As a matter of fact, the natal chart can give you tremendous insights into your child’s strengths and weaknesses and with the help of this natal chart you will be able to help your child show the best in them and become the best version of his or herself.

Astrology can help the parents to get to know who their child is and understand their psychology and it creates a harmonious and calm environment around the child. Astrology helps the parents to become good parents whom with their guidance and care can bring up a happy child.